Top

पुलिस चौकी फूंकने में 25 को पांच-पांच वर्ष की सजा...आठ मई 2002 को सोहनवीर अपहरण कांड़ के विरोध में फूंक दी गई थी भंडूर चौकी

पुलिस चौकी फूंकने में 25 को पांच-पांच वर्ष की सजा...आठ मई 2002 को सोहनवीर अपहरण कांड़ के विरोध में फूंक दी गई थी भंडूर चौकी

मुजफ्फरनगर। एक युवक के अपहरण के मामले में गुस्सायें लोगों ने सिखेडा थाना क्षेत्र में भंडूर पुलिस चौकी का घेराव कर आग लगा दी थी, जिससे भारी मात्रा में नुकसान हुआ था। पुलिस में कार्यवाही में चार आरोपियों की मौत हो गई थी, जबकि चार की मौत सुनवाई के दौरान हो चुकी है।

जानकारी के अनुसर सिखेडा थाना क्षेत्र के गांव भंडूर में आठ मई 2002 को सोहनवीर सिंह का अपहरण हो गया था, जिसमें पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर भंडूर चौकी में बंद कर दिया था। इस सूचना पर गुस्साई ग्रामीणों की भीड भंडूर चौकी पर चढ गई और चौकी में बंद आरोपियों को अपने हवाले करने की मांग करते हुए पुलिस पर हमला कर दिया था। आरोप है कि पुलिस चौकी में आग लगाकर सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था। पुलिस ने जवाबी कार्यवाही करते हुए फायरिंग कर दी थी, जिसमें मनीराम, चतरपाल, छम्मन, प्रमोद की घटना वाले दिन ही पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई थी। इसके अलावा चार आरोपियों की मौत मुकदमे की सुनवाई के दौरान हुई है।

इस मामले की सुनवाई अपर जिला एवं सत्रा न्यायाधीश 12 छोटे लाल यादव की कोर्ट में चली। कोर्ट ने पेश गवाहों व सबुतों के आधार पर दोषी ठहराये गये 25 लोगों को पांच पांच वर्ष की सजा सुनाई है। आज कोर्ट ने जिन 25 लोगों को सजा सुनाई है, उनमें विपिन कुमार, तेजपाल, बिल्लू, बिजेन्द्र, उदयराम, राजपाल, मुकेश, जयपाल, संजीव, पूरण, योगेन्द्र सिंह, मनोज कुमार, ललित, मुनेश, कैलाश, विजयपाल, मनोज, जगन उर्फ जंगसिंह, दिलशाद, साजिद, विजयकांत निवासीगण गांव भंडूर लियाकत निवासी गांव बिहारी, नीटू, नहरू व फौजी निवासी मिर्जा टिल्ला थाना सिखेडा शामिल है। कोर्ट की इस कार्यवाही से हड़कम्प मचा रहा।

वकील समीर हत्याकांड़ में एक आरोपी को मिली जमानत

15 अक्टूबर 2019 को अपहरण के बाद कर दी गई थी हत्या

मुजफ्फरनगर। थाना शहर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला लद्दावाला निवासी वकील समीर सैफी की विगत 15 अक्टूबर 2019 को अपहरण के बाद की गई हत्या के मामले में आज कोर्ट से एक आरोपी दिनेश को जमानत मिल गई है। एडीजे-1 वीर नायक सिंह की कोर्ट ने आरोपी दिनेश की जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए आदेश दिया कि डेढ-डेढ लाख की दो जमानत दाखिल किये जाने पर आरोपी दिनेश को रिहा किया जाये। आरोपी की ओर से वकील वक्कार अहमद ने पैरवी की।

गौरतलब है कि विगत 1 जनवरी को शहर कोतवाली पुलिस ने चार आरोपियों के विरूद्ध चार्जशीट दाखिल की थी। अभी तक तीन आरोपियों की ओर से अर्जी दाखिल नहीं की गई है। आरोपी दिनेश पर सीकरी गांव के जंगल में ग गडढा खोदकर वकील समीर सैफी की लाश छिपाने का आरोप है। दिनेश घटना के बाद से ही जेल में बंद है।

Share it