Top

सीएए: हिंसा, तोड़फोड़ के 14 आरोपियों को मिली जमानत...जिला जज ने दिये एक एक लाख की दो-दो जमानते देने पर ही रिहा करने के आदेश

सीएए: हिंसा, तोड़फोड़ के 14 आरोपियों को मिली जमानत...जिला जज ने दिये एक एक लाख की दो-दो   जमानते देने पर ही रिहा करने के आदेश

मुजफ्फरनगर। सीएए के विरोध में विगत 20 दिसम्बर को नगर में हुई तोड़फोड़ व हिंसा के मामले में शहर कोतवाली द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजे गये 14 और आरोपियों को भी आज कोर्ट से जमानत मिल गई है। सभी 14 आरोपियों पर एसआईटी ने एक धारा बढा दी थी, जिससे उनकी जमानत टल गई थी, लेकिन आज जिला जज की कोर्ट से 14 आरोपियों को जमानत मिली।

जानकारी के अनुसार नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में विगत 20 दिसम्बर को जुमे की नमाज के बाद मुस्लिम समाज के हजारों लोगों ने शहर कोतवाली क्षेत्र के मिनाक्षी चौक पर उग्र प्रदर्शन किया था और फिर तोड़फोड व हिंसा भी कर दी गई थी, जिसमें काफी क्षति भी पहुंची थी। इस मामले में शहर कोतवाली पुलिस ने मुकदमा अपराध संख्या 1161/19 गंभीर धाराओं में दर्ज किया था। शहर कोतवाली अनिल कप्परवान ने पुलिस टीम के साथ छापेमारकर हिंसा व तोड़फोड़ के 14 आरोपियों वसीम, आसिफ, शाहवेज, सरताज, शाहनवाज, नौमान, शहजाद, मौहम्मद वसीम, शाहिद, इकराम, वसीम, राजा, जिशान, मौहम्मद शहजाद, कलीम, दिलशाद परचुनिया को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इस इस मामले में आज जिला जज संजय कुमार पचौरी की कोर्ट में सभी 14 आरोपियों की जमानत अर्जियों पर सुनवाई हुई। जिला जज की कोर्ट ने सुनवाई के बाद आदेश दिया कि सभी 14 आरोपियों की जमानत मंजूर करते हुए एक-एक लाख की दो दो जमानते दाखिल करने के बाद ही रिहा किया जाये। गौरतलब है कि शहर कोतवाली पुलिस ने तीन आरोपियों के विरूद्ध एक धारा का इजाफा कर दिया था। इस वजह से उनकी जमानत की सुनवाई में देर लगी। आरोपियों की ओर से कई वकीलों ने पैरवी की, जिसमें मन्नान बालियान, शबाबजैदी, काजी नईम, हाकिम अली व हिमंशु ने पैरवी की।

Share it
Top