Top

सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण संवेदनशील होकर प्राथमिकता पर करना सुनिश्चित किया जाये- डीएम

मुजफ्फरनगर -जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने कहा कि सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण संवेदनशील होकर प्राथमिकता पर करना सुनिश्चित किया जाये। उन्होने कहा कि समयबद्धता का विशेष रूप से ध्यान रखा जाये। उन्होने कहा कि यह भी ध्यान रखा जाये कि एक ही प्रकृति की समस्या के निस्तारण के लिए फरियादी को बार-बार न आना पडें। उन्होने कहा कि आईजीआरएस प्रणाली के माध्यम से प्राप्त शिकायतों का तत्काल निस्तारण कराया जाये।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. आज जानसठ तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर जन शिकायतों का निस्तारण कर रही थी। उन्होने फरियादियों की शिकायतों को गम्भीरता के साथ सुना और उनका जल्द ही निस्तारण कराने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होने कहा कि सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का अधिकारीगण संवेदनशील होकर तत्परता के साथ इनका निस्तारण करें। इसके अतिरिक्त चकबन्दी विभाग, शिक्षा विभाग, खाद्य आपूर्ति विभाग, कृषि विभाग, पीडब्ल्यूडी,पुलिस, समाज कल्याण विभाग, वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन आदि विभागों की समस्याओं पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि एक सप्ताह के अन्दर शिकायतों का निस्तारण सुनिश्चित कराया जाये। उन्होने कहा कि शिकायतें लंबित न रखी जाये और शिकायत प्राप्त होते ही उनके निस्तारण की कार्यवाही प्राथमिकता पर संचालित की जाये। उन्होने कहा कि शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता परक ढंग से कराया जाये। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि जन सामान्य के कल्याणार्थ संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगो को दिया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होने कहा कि जन सामान्य को मूलभूत सुविधायें प्रदान की जाये। जिलाधिकारी ने आज तहसील दिवस के उपरान्त जानसठ तहसील का भी निरीक्षण किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव, मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थें।

कोरोना काल के लंबे अंतराल के बाद माह के द्वितीय मंगलवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित तहसील समाधान दिवस में कुल 35 शिकायतें प्राप्त हुई जिन में से किसी एक का भी निस्तारण नहीं हो पाया।

मंगलवार को कोरोना काल के लंबे अंतराल के बाद जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे जानसठ तहसील समाधान दिवस पहुंची और संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए समय से पीड़ितों की शिकायतों का निस्तारण करने को कहा। तहसील समाधान दिवस में कुल 35 शिकायतें प्राप्त हुई जिन में से किसी एक का भी निस्तारण नहीं हो पाया।

आने वाले फरियादियों की भी की गई थर्मल स्कैनिंग

तहसील समाधान दिवस में अलग से डेस्क लगाकर थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था की गई जिसमें आने वाले फरियादियों की थर्मल स्कैनिंग जांच की जाकर और टेंप्रेचर नाप कर ही संबंधित अधिकारियों के सामने पीड़ितों को भेजा गया।

Share it