Top

डेढ करोड़ की नशीली दवाईयां पकड़ी ... सिविल लाईन पुलिस, क्राइम ब्रांच स्वाट टीम व औषधी विभाग की कार्यवाही से हड़कम्प

मुजफ्फरनगर। जनपद के युवाओं को नशे से दूर रखने के प्रयासों में जुटे एसएसपी को आज अपने जीरो ड्रग्स अभियान में बडी सफलता मिली है और नशीली दवाओं की सप्लाई करने वाले गैंग का खुलाया किया गया है। एसएसपी ने जीरो ड्रग्स अभियान चलाकर नशे के सौदागरों की कमर तोड़कर रख दी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव द्वारा जनपद में चलाये जा रहे जीरो ड्रग्स अभियान को आज बहुत बडी सफलता मिली है। थाना सिविल लाईन पुलिस, क्राइम ब्रांच स्वाट टीम व औषधी विभाग की टीम ने संयुक्तरूप से छापा मारते हुए लगभग डेढ करोड़ रुपये की नशीली दवाईयां बरामद की है और चार तस्कर भी गिरफ्तार किये है, जबकि मुख्य सप्लायर पफरार हो गया, जिसकी तलाश की जा रही है। पुलिस लाईन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि जनपद में चलाये जा रहे जीरो ड्रग्स अभियान के तहत आज थाना सिविल लाईन पुलिस, क्राइम ब्रांच स्वाट टीम व औषधी विभाग की टीम ने संयुक्तरूप से छापा मारकर चार अन्तर्राज्जीय शातिर मादक पदार्थ तस्करों को गिरफ्तार किया है, जिनके कब्जे से भारी मात्रा में नशीली दवाईयां बरामद की गयी है। 51 पेटियों में मिली नशीली दवाईयों की बाजारू कीमत लगभग डेढ लाख रुपये है। पकड़े गये अभियुक्तों के नाम साहिल उर्फ शाहवेज पुत्र रिजवान निवासी रहमत मस्जिद के पास दक्षिणी खालापार थाना शहर कोतवाली, सुशील पुत्र विनोद निवासी बर्फखाने वाली गली अलमासपुर कूकड़ा रोड थाना नई मंडी, शब्बन पुत्र शब्बीर निवासी जैनबिया स्कूल के पास खादरवाला थाना शहर कोतवाली, फरमान पुत्र लियाकत निवासी ग्राम गोधना थाना पुरकाजी बताये गये है। पकड़े गये अभियुक्तों में साहिल उर्फ शाहवेज मुख्य तस्कर हैं, जो बडी मात्रा में तस्करी करता था, जबकि सुशील को सहारनपुर, पंजाब हरियाणा में नशीली दवाई तस्करी करने की जिम्मेदारी मिली हुई थी। शब्बन जनपद व शहर में नशीली दवाई सप्लाई करता था, जबकि फरमान को उत्तराखण्ड़ में नशीली दवाई सप्लाई करने की जिम्मेदारी मिली हुई थी। एसएसपी ने बताया कि मुख्य आरोपी अनूप गर्ग पुत्र धरमप्रकाश निवासी नॉर्थ सिविल लाईन, मुजफ्फरनगर फरार चल रहा है, जिसका जिला परिषद मार्किट में राजीव मैडिकल स्टोर है। उक्त सभी तस्कर आगरा से थोक मेें नशीली दवाई लाते थे और पिफर उन्हें फुटकर में सप्लाई की जाती थी, जिसमें ये मोटा मुनाफा कमाते थे। इस गैंग में कुछ लोग और भी हैं, जिनकी जांच की जा रही है। इस गैंग का खुलासा करने वाली टीम में क्राइम ब्रांच स्वाट टीम के प्रभारी प्रवेश कुमार के साथ ही उनकी पूरी टीम, थाना सिविल लाईन के एसआई सुरेन्द्र राव व उनकी टीम, औ. विभाग के निरीक्षक वैभव बब्बर, निरीक्षक संदीप कुमार व निरीक्षक डा. अखिलेश जैन शामिल रहे। एसएसपी अभिषक यादव ने इस गैंग का भंडाफोड करने वाली टीम को इनाम की घोषणा की है।

Share it
Top