Top

छपार थाने की हिस्ट्रीशीटर इमरान की सम्पत्ति कुर्क होने से मचा हड़कम्प

छपार थाने की हिस्ट्रीशीटर इमरान की सम्पत्ति कुर्क होने से मचा हड़कम्प

मुजफ्फरनगर। गौकशी व गौतस्करी समेत विभिन्न अपराधिक गतिविधियों मंे शामिल रहे शातिर अपराधी गैंगेस्टर इमरान के खिलाफ डीएम द्वारा की गयी सम्पत्ति कुर्क करने की कार्यवाही से हडकम्प मचा हुआ है। थाना छपार क्षेत्र के गांव छपार निवासी गैंगेस्टर इमरान पुत्र नाजिर के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट समेत विभिन्न गंभीर धाराओं में 16 मुकदमें छपार थाने मेें दर्ज है। उस पर गौकशी, गौतस्करी, गुंडा अधिनियम, आईपीसी, सीआरपीसी, जी.एक्ट समेत 16 मुकदमें पिछले 20 सालों में दर्ज हो चुके है। अपने बीस साल के अपराधिक जीवन में छपार थाने के हिस्ट्रीशीटर इमरान ने अवैध तरीके से गौकशी की तस्करी करने जैसे अन्य संगीन अपराध किये हैं। शातिर किस्म के अपराधी इमरान ने अपराधिक गतिविधियो से करोड़ों रुपये की काली कमाई की और उससे अवैध सम्पत्ति अर्जित कर ली। डीएम व एसएसपी द्वारा उसके कार्यकलापों की लगातार जांच करायी जा रही थी और पुलिस उस पर निगरानी बनाये हुए थी। उसने अपराध कर समाज विरोध्ी क्रियाकलापों से अर्जित अवैध धन से अपनी पत्नी साजिदा के नाम से भी कई प्लॉट व कृषि योग्य भूमि खरीदी थी। इसके अलावा बैंक खातों मेें भी बडी रकम जमा करा रखी थी। डीएम के आदेश पर उसकी समस्त चल-अचल सम्पत्ति कुर्क कर ली गयी। उसके खिलाफ उत्तर प्रदेश गिरोहबंद एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 की धरा 14 (1) के अन्तर्गत कार्यवाही की गयी है। इमरान ने अपनी पत्नि साजिदा व अपने नाम छपार में बडी संख्या में प्लॉट व कृषि भूमि खरीद रखी थी, जिसे कुर्क कर लिया गया है। इसी प्रकार छपार की एसबीआई शाखा में जमा इमरान व उसकी पत्नी के संयुक्त खाते की रकम दो लाख 27 हजार एक सौ चौहत्तर रुपये बीस पैसे को भी जब्त कर लिया गया है। इसी प्रकार उसकी समस्त चल-अचल सम्पत्ति को जब्त कर लिया गया है। उसका व उसकी पत्नी का बैंक खाता भी सीज कर दिया गया है। डीएम सेल्वाकुमारी जे. के निर्देश पर तहसीलदार सदर को कुर्क की गयी चल-अचल सम्पत्ति का प्रशासक नियुक्त किया है।

Share it
Top