Top

गौकशी से करोड़ों की अवैध कमाई करने वाले गौतस्कर इमरान की सम्पत्ति कुर्क...अभियुक्त इमरान के खिलाफ की डीएम ने सख्त कार्यवाही

गौकशी से करोड़ों की अवैध कमाई करने वाले गौतस्कर इमरान की सम्पत्ति कुर्क...अभियुक्त इमरान के खिलाफ की डीएम ने सख्त कार्यवाही

मुजफ्फरनगर। जिला मजिस्ट्रेट सेल्वा कुमारी जे ने बताया कि अभियुक्त इमरान पुत्र नाजिर निवासी ग्राम छपार, थाना छपार पर पंजीकृत मु0अ0सं0-01/2019 धारा 2/3 गैंगस्टर एक्ट में नामजद उक्त अभियुक्त द्वारा अपराध कारित कर समाज विरोध क्रियाकलापों से अर्जित अवैध धन से अपनी पत्नी साजिदा के नाम एवं अपने नाम क्रमश: कृषि भूमि स्थित ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर के खसरा नम्बर 1417 रकबा 0.1500, आवासीय प्लाट ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर रकबा 86.996 वर्गमीटर, आवासीय मकान स्थित ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर रकबा 77.09 वर्गमीटर, आवासीय प्लाट स्थित ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर रकबा 44.035 वर्गमीटर, आवासीय प्लाट स्थित ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर जिला मुजफ्फरनगर रकबा 42.96 वर्गमीटर, कृषि भूमि स्थित ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर खसरा नम्बर 587 रकबा 0.0239हे0, कृषि भूमि स्थित ग्राम छपार परगना पुरछपार तहसील सदर जिला मुजफ्फरनगर खसरा नम्बर 587 रकबा 0.1370हे0, कृषि भूमि स्थित ग्राम छपार खसरा नम्बर 638/1 रकबा 0.5070हे0 में से 0.1690हे0 व इमरान पुत्र नाजिर व श्रीमती साजिदा पत्नी इमरान के ज्वाइंट खाता स्टेट बैंक आफॅ इण्डिया ग्राम छपार में बैक खाता जिसमें नकद धनराशि 2,27,174.20 (दो लाख सत्ताईस हजार एक सौ चौहत्तर रूपये बीस पैसे) जमा है, को उत्तर प्रदेश गिरोहबन्द एंव समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 की धारा-14(1) में प्रदत्त शाक्तियों का प्रयोग करते हुए अभियुक्त इमरान पुत्र नाजिर निवासी ग्राम छपार थाना छपार द्वारा स्वयं अपने एवं अपनी पत्नी के नाम क्रय की गई निम्नलिखित चल/अचल सम्पत्ति को दं0प्र0सं0 1973 के उपबन्धों के अनुसार कुर्क कर लिया गया है।

अभियुक्त इमरान पुत्र नाजिर निवासी ग्राम छपार थाना छपार जिला मुजफ्फरनगर एक शातिर किस्म का अपराधी है तथा थाना छपार पर हिस्ट्रीशीटर के रूप में हिस्ट्रीशीट सख्ंया 04/ए पर सूचीबद्व है, जिसके द्वारा अवैध तरीके से गौकशी की तस्करी करने जैसें अन्य संगीन अभियोग पंजीकृत है।

जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि इमरान द्वारा एक सुसंगठित गिरोह बनाकर अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहकर गिरोहबन्द एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 की परिधि में आने वाले अपराध कारित करके अनुचित रूप से धन अर्जित किया तथा इनके द्वारा इस प्रकार अर्जित किये गये धन से उपरोक्त चल/अचल सम्पत्ति सुनियोजित ढंग से अर्जित की गई है, जिसको कुर्क कर लिया गया है। कुर्क की गई चल/अचल सम्पत्ति का विवरण इमरान पुत्र नाजिर व श्रीमती साजिदा पत्नी इमरान के ज्वाइंट खाता स्टेट बैंक आफॅ इण्डिया ग्राम छपार जिसमें नकद धनराशि 2,27,174.20 (दो लाख सत्ताईस हजार एक सौ चौहत्तर रूपये बीस पैसे) जमा है। उक्त खाते को सीज करते हुए इस खाते से किसी भी प्रकार से आहरण/वितरण को प्रतिबन्धित किया जाता है।

जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि उत्तर प्रदेश गिरोहबन्द एंव समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 की धारा-14 (3) के अन्र्तगत शक्तियों का प्रयोग करते हुए तहसीलदार सदर जनपद मुजफ्फरनगर को उपरोक्त कुर्क की गई चल/अचल सम्पत्ति का प्रशासक नियुक्त किया जाता है। प्रशासक को उपरोक्त सम्पत्ति के सर्वोत्तम हित में उसका प्रबन्ध करने की सभी शक्तियां प्राप्त होगी।

Share it
Top