Top

उन्नाव मामले में भी हैदराबाद जैसा हो न्याय....गैंगरेप मामलों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में शीघ्र सुनवाई कर मामले का निस्तारण करें, न्याय प्रक्रिया में बदलाव करते हुए किया जाये कड़ा

मुजफ्फरनगर। हैदराबाद की घटना को लेकर लोगों में रोष थमने का नाम नहीं ले रहा है। यह दिन प्रतिदिन बढता ही जा रहा है। महिला सुरक्षा को लेकर क्या उपाय किये जाए तथा घटना के दरिंदों को क्या सजा दी जाए। इस पर अनेेकों ने अपने विचार व्यक्त किये।

राजकीय इंटर कालेज मुजफ्फरनगर की प्रवक्ता सुचित्रा सैनी ने कहा कि हैदराबाद की बेटी के साथ जो हुआ, उससे पूरा देश आक्रोशित है। उसको न्याय मिलना चाहिए। ताकि ऐसी पुनरावृत्ति न हो। और महिला सशक्तिकरण को एक नई दिशा मिल से सके। सभी आरोपियों को मौत की सजा होनी चाहिए।

मीनाक्षी आर्य सहायक अध्यापिका राजकीय हाईस्कूल सम्भलहेडा मुजफ्फरनगर ने कहा कि हैदराबाद में एक महिला चिकित्सक के साथ जो घिनौना अपराध जिन विकृत मानसिकता के लोगों ने किया। आज पूरा देश उनके विरूद्ध कठोर सजा की मांग कर रहा है।

श्वेता रानी स.आ. रा.क.ई. कालेज सिसौली ने कहा कि जब बलात्कारी किसी मासूम के साथ निर्दयता दिखाता है, तो उसके प्रति दया क्यों, उसकी सजा तो जिंदा जलाना ही है।

सीमा कुमारी स.आ. रा.क.ई. कालेज सिसौली ने कहा कि जब से हैदराबाद की घटना घटी है। जब से मन में से यह घटना निकल नहीं रही है। मेरा ये मानना है कि जिस प्रकार से महिला चिकित्सक को जलाया गया, उन वहशी दरिंदों को भी उसी प्रकार से जिंदा जला दिया जाए।

गुंजन राघव प्रवक्ता रा.क.इ. कालेज भैंसी ने कहा कि महिला चिकित्सक के साथ हुए जघन्य अपराध ने मेरे मन को झिंझोड दिया है। अपराधियों को मौत की सजा होनी चाहिए।

विभा सिंह स.अ. राजकीय हाईस्कूल रई मुजफ्फरनगर ने कहा कि इस अपराध के लिए सरकार को सख्त रूप अपनाना जरूरी है। इसके लिए सिर्फ और सिर्फ फांसी की सजा होनी चाहिए। अगर सख्त रूप अपनाया जाए तभी समाज से इस अपराध का अंत हो सकता है।

अंजू वर्मा सहायक अध्यापिका रा.क.इ. कालेज भैंसी ने कहा कि हमें अपने बच्चों को इस तरह से पालना चाहिए कि उनके मन से शुद्ध विचार ही निकले। हर लडकी का सम्मान करना सिखाएं। इससे लड़कों में ऐसे अपराध करने का विचार भी न आये। इस अपराध के लिए सभी आरोपियों को शीघ्र अति शीघ्र फांसी की सजा दी जानी चाहिए।

श्रीमती ध्ृति जैन स.अ.राजकीय हाईस्कूल रई सदर मुजफ्फरनगर ने कहा कि हैदराबाद में जो जघन्य अपराध हुआ है, उसे सुनकर वह अत्यंत ही दुखी हैं। हर शहर हर स्थान पर ऐसी घटनाएं हो रही हैं। अत: इन्हें रोकना अत्यंत ही आवश्यक है। इस अपराध के लिए सरकार को सख्त से सख्त कानून बनाना होगा। ऐसे अपराधियों को बिना किसी सुनवाई के सीधे फांसी दे दी जाए। हमें अपने बेटों को औरतों की इज्जत करनी सिखानी चाहिए।

श्रीमती अनुराधा स.अ.राजकीय हाईस्कूल रई सदर मुजफ्फरनगर ने कहा कि कानून सख्त बनाना चाहिए। उसका कडाई से पालन भी हो। इस अपराध की सजा केवल और केवल फांसी ही है।

राजकीय इंटर कालेज मुजफ्फरनगर की गीता रानी ने अपने विचार एक कविता के माध्यम से व्यक्त किये। कहा कि ये जीवन है, अमृत की मुझे जी भर कर पी लेने दो, जिस तरह से मैं जीना चाहूं, जी लेने दो, जी लेने दो। जब भी मैं बाहर निकलती हूं, घर वाले सहम से जाते हैं, कैसे बचना है, क्या करना है, मुझे अलग-अलग समझाते हैं। सब तरह सुरक्षित चलकर भी मुझे क्यूं मार दिया जाता है, मेरे जीवन, मेरे सपने, सबको कुचल दिया जाता है।

श्रीमती मोनिका स.अ. राजकीय हाईस्कूल नावला खतौली ने कहा कि ऐसे दुष्कर्म करने वाले लोगों की मानसिकता सही नहीं होती, वे मानसिक रूप से बीमार रहते हेैं। उन लोगों को ऐसी सजा मिलनी चाहिए, जिससे दूसरे लोग उससे सीख ले सके और अन्य इस प्रकार का कृत्य करने से पहले सौ बार सजा के बारे में सोचे।

निधि वर्मा स.अ. गणित राजकीय हाईस्कूल नावला खतौली ने कहा कि लोगों को अपनी मानसिकता बदलनी होगी। लडका व लडकी में अंतर नहीं है। सड़कें लडकियों के लिए सुरक्षित हों तथा पुलिस की जगह-जगह पर सही व्यवस्था हो। ऐसे दुष्कर्मियों को फांसी की सजा दी जाए।

कु. सिमरन प्रवक्ता हिंदी डीएवी इंटर कालेज मुजफ्फरनगर ने कहा कि महिला चिकित्सक को और उनकी जैसी अन्य महिलाओं को इंसाफ मिलना चाहिए। गुनहगारों को फांसी की सजा सरेआम मिलनी चाहिए।

नरेश सैनी प्रवक्ता रसायन विज्ञान डीएवी इंटर कालेज, मु.नगर इस प्रकार के अपराधों के लिए फास्ट कोर्ट बनानी चाहिए। न्यास की समय सीमा 30 दिन से अधिक नहीं होनी चाहिए। दोष सिद्ध होते ही अपराधियों को फांसी की सजा होनी चाहिए।

सत्यकाम तोमर व्यायाम शिक्षक डीएवी इंटर कालेज मु.नगर ने कहा कि हैदराबाद जैसे मामलों में अपराधियों को फासी की सजा दी जाए, ताकि समाज में प्रकार के अपराधियों के लिए एक मिसाल बने।

अजयपाल सिंह प्रवक्ता डीएवी इंटर कालेज मु.नगर ने कहा कि पशु चिकित्सक के मामले में अपराधियों के लिए तीव्र सुनवाई हो तथा अतिशीघ्र कठोरतम सजा दी जाए।

अमित कुमार सहायक अध्यापक डीएवी इंटर कालेज मु.नगर ने कहा कि हैदराबाद की घटना में अपराधियों को फांसी की सजा हो। कानून में संशोधन आवश्यक है। जिससे भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।

प्रतिभा राठी सहायक अध्यापिका डीएवी इंटर कालेज मु.नगर ने कहा कि हैदराबाद में पशु चिकित्सक मामले में सभी आरोपियों को कठोर से कठोर सजा दी जाए, जो ऐसी जघन्य घटना के नये आरोपियों को जन्म न दे सके।

श्रीमती कविता पाल स.अ. डीएवी इंटर कालेज मु.नगर ने कहा कि हैदराबाद के सभी आरोपियों को नपुंसक बनाकर छोड दिया जाए ताकि पिफर भविष्य में ऐसी घटना न हो।

श्रीमती प्रीति अग्रवाल प्रवक्ता कॉमर्स डीएवी इंटर कालेज मु.नगर ने कहा कि ऐसे मामलों में अपराधियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटना न घटित हो सके।

Share it
Top