Top

नोडल अधिकारी ने तहसील सदर का किया निरीक्षण...प्रमुख सचिव ने शहर की सफाई व्यवस्था एवं सरवट पेयजल परियोजना को गहनता देखा

नोडल अधिकारी ने तहसील सदर का किया निरीक्षण...प्रमुख सचिव ने शहर की सफाई व्यवस्था एवं सरवट पेयजल परियोजना को गहनता देखा

मुजफ्फरनगर। प्रमुख सचिव कृषि/नोडल अधिकारी अमित मोहन प्रसाद ने आज तहसील सदर का निरीक्षण करते हुए अभिलेखागार, भूलेख कक्ष का निरीक्षण करते हुए प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने राजस्व अभिलेखागार में बस्ता खुलवाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में किसानोंं से प्राप्त घोषणपत्रों एवं खसरा आदि का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होंने ई-कम्प्यूटर कक्ष, न्यायालय तहसीलदार न्यायिक कक्ष, न्यायालय तहसीलदार सदर कक्ष, संग्रह अनुभाग में जाकर बडे बकायेदारों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बडे बकायेदारों से वसूली की जाये। इसके पश्चात उन्होंने बीआरसी सैन्टर का निरीक्षण किया। उन्होंने निर्देश दिये कि खतौनी व विरासत के मामले लम्बित न रखे जाये, तत्काल उनका निस्तारण कराया जाये। उन्होंने कोर्ट रूम का निरीक्षण करते हुए कहा कि पुराने वादों का निस्तारण कराया जाये। उन्होंने कहा कि अदम पैरवी में खारिज मुकदमें का नया नम्बर नहीं होना चाहिए। इसके पश्चात प्रमुख सचिव ने तहसील सदर के प्रांगण में जामुन का पौधा लगाकर वृक्षारोपण भी किया। प्रमुख सचिव ने शहर की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए गाजीवाली पुलिया से रैदासपुरी वार्ड नम्बर 1 की गलियों में स्थानीय लोगों से सफाई व्यवस्था के बारे में बात की। उन्होंने नागरिकों से प्लास्टिक व पॉलिथिन प्रयोग न करने की अपील करते हुए कहा कि सभी अपने घर के आसपास स्वयं भी सफाई अभियान चलाये, ताकि शहर स्वच्छ रहे। अनावश्क गंदगी न करें। गीले व सूखे कचरे के लिए अलग-अलग डस्टबिन का प्रयोग करें। उन्होंने ईओ को निर्देश दिये कि शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक दुरूस्त कराया जाये। सभी जगह सफाई व्यवस्था ठीक होनी चाहिए।इसके पश्चात उन्होंने सरवट ग्राम में जाकर पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया। निरीक्षण में उन्होंने ग्रामवासियों को दिये जा रहे पानी में क्लोरिन की मात्रा की जांच, कितनी क्लोरिन पानी में डाली जाती है और किस प्रकार की जाती है, का परीक्षण अपने सामने कराया। जल निगम की अधिकारी ने निरीक्षण के दौेरान बताया कि इस परियोजना से 6500 कनैक्शन दिये गये हैं। इस परियोजना का अभी थोड़ा सा कार्य शेष है, जो शीघ्र ही पूर्ण हो जायेगा। इसके पश्चात यह परियोजना ग्राम सभा को हैण्डओवर कर दी जायेगी। प्रमुख सचिव ने कहा कि इसके रखरखाव के लिए यूजर चार्ज लिया जाये, जिसे ग्राम प्रधान एकत्र करे। उन्होंने कहा कि पानी के मीटर भी लगाये जाये। इस अवसर पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे., मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह, एसडीएम सदर अनुज मलिक, तहसीलदार पुष्करनाथ चौधरी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Share it