Top

नकली खाद व कीटनाशक बनाने का भंडाफोड.... शहर कोतवाली, नई मंडी पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने दी बाईपास पर फैक्ट्री मे दबिश

नकली खाद व कीटनाशक बनाने का भंडाफोड.... शहर कोतवाली, नई मंडी पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने दी बाईपास पर फैक्ट्री मे  दबिश

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. व वरिष्ठ पुलिस धीक्षक अभिषेक यादव के कुशल निर्देशन में कृषि विभाग, क्राइम ब्रांच, शहर कोतवाली व नई मंडी थाना पुलिस ने संयुक्त टीम बनाकर आज बाईपास स्थित एक फैक्ट्री पर दबिश दी, जहां से भारी मात्रा में ब्रांडेड कम्पनियों के नकली खाद व कीटनाशक बरामद हुए। छापे के दौरान तीन अलग-अलग तरह की मशीन, बडी मात्रा में खाली बोरियां, 12 बोरे नमक से भरे हुए व 15 बोरे खाली, दो फावडे एक जनरेटर व गाडी बरामद की है। एसएसपी अभिषेक यादव ने पुलिस लाईन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बताया कि जिला कृषि विभाग, क्राइम ब्रांच, शहर कोतवाली व नई मंडी थाना पुलिस की एक संयुक्त टीम बनायी गयी और मुखबिर खास की सूचना पर शामली बाईपास रोड पर पैट्रोल पम्प के पीछे आबाद पुत्र इकबाल की फैक्ट्री में दबिश दी गयी, जहां से भारी मात्रा मेें नकली रासायनिक उर्वरक बरामद हुआ और चार अभियुक्त भी मौके से गिरफ्तार किये गये। पूछताछ में चारों ने अपने नाम रमेश पुत्र रघुवीर सिंह निवासी बच्चन सिंह कॉलोनी, परविन्द्र उर्फ नीटू पुत्र ओमप्रकाश निवासी अवध् विहार, विशाल पुत्र विक्रम सिंह निवासी अलमासपुर, आसमौहम्मद उर्फ आशू पुत्र अख्तरी निवासी महमूदनगर बताया है, जबकि अपने फरार साथी का नाम राहुल निवासी अवध् विहार थाना नई मंडी बताया हैं। छापे के दौरान टीम को वहां से एक मिक्चर मशीन मय इलेक्ट्रोनिक मोटर, एक इलेक्ट्रोनिक वेटिंग मशीन, एक सिलाई मशीन इलेक्ट्रोनिक, 150 अदद खाली बोरी, जिस पर इफको, डीएपी उर्वरक फर्टिलाईजर इंडियन फार्मस फर्टिलाईजर कोपरेटिव लि. कांडला, गांधी धम गुजरात अंकित है। 139 खाली बोरे आईपीएल पोटाश की, चार बोरे पुराने खाद से भरे हुए व 15 बोरे खाली, 12 बोरे नमक के भरे हुए व 15 बोरे खाली, दो फावडे, एक पावर जनरेटरसैट श्रीराम कम्पनी, एक गाडी नम्बर यूपी 12बीटी 0960, गेरू 2 किलोग्राम बरामद किया है। एसएसपी ने बताया कि नकली खाद बनाने में दो सौ रुपये से 250 रुपये तक की लागत आती है, जबकि बाजार में 600 रुपये से 900 रुपये तक नकली खाद का बोरा बिक जाता है, जिसमें उक्त लोगों को मोटी बचत होती है। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वे सस्ते दामों पर नमक की बोरी, बाजार से गेरू तथा महीन बजरी को एक मिक्चर मशीन से मिलाकर व तौलकर फिर उसकी पैकिंग कर नकली रसायन/उर्वरक बनाकर ब्रांडेड कम्पनी ईफको, आईपीएल पोटाश की बोरियों में पैकिंग कर बाहर के जनपदों में व लोकल दुकानदारों को महंगे दामों में बेच देते थे। छापेमारी के दौरान जिला कृषि अधिकारी जसवीर सिंह व उनकी टीम भी मौजूद रही। इसके अलावा शहर कोतवाली व क्राइम ब्रांच की टीम भी इस खुलासे में शामिल रही है। एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि नकली खाद व कीटनाशक बनाने वाले अभियुक्तों से पूछताछ के बाद पता चला कि वे नकली बैग की छपाई अनन्त पोली बैग शांतिनगर से कराते थे, जिसके बाद नई मंडी कोतवाली प्रभारी संजीव कुमार ने पुलिस टीम के साथ वहां छापा मारा और तीन अभियुक्तों नवीन जैन पुत्र ईश्वरचंद जैन निवासी प्रेमपुरी, सन्नी पुत्र मदनलाल निवासी पटेलनगर व रोहित पुत्र रामपाल सैनी निवासी तुलसीनगर कूकड़ा को मौके से गिरफ्तार किया। पुलिस ने वहां से दो प्रिंटिंग मशीन एक इलेक्ट्रोनिक कांटा व 62 डाई बैग छापने वाली भी बरामद की है। एसएसपी ने बताया कि लगभग 100 कम्पनियों के नकली बैग वहां पर छापे जा रहे थे और अवैध् रुप से नकली सामान की सप्लाई जनपद में की जा रही थी।

Share it