Top

धर्म-दर्शन - Page 4

  • जब मिलने लगें ये संकेत तो समझिए ईश्वर के बहुत करीब हैं आप

    अध्यात्म की राह मेडिटेशन और अध्यात्म की राह हमें शांति की ओर मोड़ देती है जहां उस परम शक्ति से मिलन का रास्ता बहुत आसान हो जाता है। हम सभी कहीं ना कहीं, किसी ना किसी रूप में उस परम शक्ति से जुड़े हुए हैं। हम सभी के अंदर प्रकट करने की शक्ति है। ये हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हम उस शक्ति को कैसे...

  • अध्यात्म: क्या ईश्वर का अस्तित्व है?

    आये दिन विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में ईश्वर के ऊपर विश्वास करने या उसे मानने को अंध-विश्वास करार दिया जाता है। यह कहा जाता है कि ईश्वर की सत्ता में विश्वास करने वाले रूढि़वादी संकुचित मस्तिष्क के लोग हैं जो कभी भी उन्नति के मार्ग को प्रशस्त नहीं कर सकते। ईश्वर का अस्तित्व कितना सत्य है - कितना असत्य,...

  • पर्यटन/तीर्थस्थल: जब गुरूनानक ने भी की थी पुष्करराज की यात्रा

    यूं तो देश भर में श्रद्धा स्थल के रूप में अनेकों पवित्र तीर्थ स्थल है, जहां कार्तिक मास में श्रद्धालु सरोवरों में स्नानादि कर पुण्य कमाते है। राजस्थान में अजमेर के निकट स्थित तीर्थराज पुष्कर की महत्ता हरिद्वार से कम नहीं आंकी जाती। यहां सृष्टि के निर्माता जगतपिता ब्रह्माजी ने भी यज्ञ किया था। समूचे...

  • तीर्थस्थल: हरिमंदिर साहिब

    हरिमंदिर साहिब सिखों का ऐसा पवित्र तीर्थ है जिसे देखने और पूजा अर्चना के लिए दुनिया भर से श्रद्धालु आते हैं। सिख धर्म के चतुर्थ गुरू रामदास जी ने सोलहवीं शताब्दी में अमृतसर शहर की नींव रखी। इसके बाद गुरूजी ने यहां एक गहरे सरोवर का निर्माण आरंभ किया। पंचम गुरू अर्जनदेव जी ने गद्दी पर विराजमान होने पर ...

  • वृश्चिक लग्न 2020

    गोचर इस वर्ष शनि 24 जनवरी को मकर राशि में तृतीय भाव में प्रवेश रहेंगे। वर्ष के प्रारम्भ में राहु मिथुन में अष्टम भाव में होंगे और 19 सितम्बर के बाद वृष राशि में सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। 30 मार्च को गुरु मकर राशि में तृतीय भाव में प्रवेश करेंगे एवं वक्री होकर 30 जून को धनु राशि में दवितीय भाव...

  • मीन लग्न 2020

    गोचर इस वर्ष शनि 24 जनवरी को मकर राशि में एकादश भाव में प्रवेश रहेंगे। वर्ष के प्रारम्भ में राहु मिथुन में चतुर्थ भाव में होंगे और 19 सितम्बर के बाद वृष राशि में तृतीय भाव में प्रवेश करेंगे। 30 मार्च को गुरु मकर राशि में एकादश भाव में प्रवेश करेंगे एवं वक्री होकर 30 जून को घनु राशि में दशम भाव में...

  • मकर लग्न 2020

    गोचर इस वर्ष शनि 24 जनवरी को मकर राशि में प्रथम भाव में प्रवेश रहेंगे। वर्ष के प्रारम्भ में राहु मिथुन में षष्ठ भाव में होंगे और 19 सितम्बर के बाद वृष राशि में पंचम भाव में प्रवेश करेंगे। 30 मार्च को गुरु मकर राशि में प्रथम भाव में प्रवेश करेंगे एवं वक्री होकर 30 जून को धनु राशि में दवादश भाव में...

  • ज्योतिष: किस राशि के पुरूष कैसी महिलाओं की ओर आकर्षित होते हैं

    मुहब्बत का आलम हो और हुस्न का नूर तो प्यार की शोखियां परवान क्यों न चढ़ेगी? वैसे भी इश्क की हसरत ही होती है कि वो हुस्न की हर अदा पर मर मिटे और हुस्न की ख्वाहिश होती है इश्क को अपने कदमों पर झुका लेने की। कुछ ऐसा ही होता है दोनों के प्यार का अंदाज पर यह भी सच है कि कोई भी पुरूष किसी भी स्त्री की...

  • पर्यटन/तीर्थस्थल: ऐतिहासिक है पोकरण का 'दमदमा साहिब गुरूद्वारा'

    राजस्थान की धरती का सौभाग्य ही रहा है कि गुरूनानक देव जी से लेकर अंतिम पातशाही के गुरू गोविंद सिंह तक राजस्थान की यात्रा पर आए थे। ऐसा माना जाता है कि गुरू नानक देव ईरान-इराक की यात्रा करते हुए पश्चिम राजस्थान में पहुंचे थे। वे बीकानेर से कोलायत, रामदेवरा, पोकरण, जैसलमेर तथा जोधपुर मकराना व सांभर...

  • तुला लग्न 2020

    गोचर इस वर्ष शनि 24 जनवरी को मकर राशि में चतुर्थ भाव में प्रवेश रहेंगे। वर्ष के प्रारम्भ में राहु मिथुन में नवम भाव में होंगे और 19 सितम्बर के बाद वृष राशि में अष्टम भाव में प्रवेश करेंगे। 30 मार्च को गुरु मकर राशि में चतुर्थ भाव में प्रवेश करेंगे एवं वक्री होकर 30 जून को धनु राशि में तृतीय भाव में ...

  • कुम्भ लग्न 2020

    गोचर इस वर्ष शनि 24 जनवरी को मकर राशि में द्वादश भाव में प्रवेश रहेंगे। वर्ष के प्रारम्भ में राहु मिथुन में पंचम भाव में होंगे और 19 सितम्बर के बाद वृष राशि में चतुर्थ भाव में प्रवेश करेंगे। 30 मार्च को गुरु मकर राशि में द्वादश भाव में प्रवेश करेंगे एवं वक्री होकर 30 जून को घनु राशि में एकादश भाव...

  • कन्या लग्न 2020

    गोचर इस वर्ष शनि 24 जनवरी को मकर राशि में पंचम भाव में प्रवेश रहेंगे। वर्ष के प्रारम्भ में राहु मिथुन में दशम भाव में होंगे और 19 सितम्बर के बाद वृष राशि में नवम भाव में प्रवेश करेंगे। 30 मार्च को गुरु मकर राशि में पंचम भाव में प्रवेश करेंगे एवं वक्री होकर 30 जून को धनु राशि में चतुर्थ भाव में गोचर ...

Share it