Top

अनमोल वचन - Page 2

  • अनमोल वचन

    दया को धर्म का मूल कहा जाता है अर्थात जब तक हृदय में दया है, तब तक धर्म उस पर टिका है, दया की अनुपस्थिति में धर्म का कोई अस्तित्व ही नहीं अर्थात यदि मनुष्य निर्दयी है तो वह धार्मिक नहीं हो सकता। संसार में जितने भी महामानव हुए हैं, सबके जीवन में करूणा की बडी भूमिका रही है। भगवान बुद्ध ने राजपाट छोडकर ...

  • अनमोल वचन

    करूणा का अर्थ किसी शर्त के बिना प्रेम करना है। करूणा अपने और पराये का भेद नहीं करती। करूणा के अभाव में किसी के लिये कुछ करते समय मनुष्य में उपकार की भावना रहती है, परन्तु करूणा के साथ मानव जो कुछ करता है, वह केवल प्रेम के कारण करता है। इसलिए प्रेम और करूणा ही जीवन जीने का सबसे महत्वूपर्ण सूत्र है।...

  • अनमोल वचन

    रिश्ते मन से बनते हैं, खाली बातों से नहीं। भूख रिश्तों की भी होती है, एक बार परोसकर देखिये। परिवार में रहकर रिश्तों से दोस्ती निभानी पडती है। रिश्तों को लगन से पालना पडता है। प्रसन्नता के लिये खुश होकर काम करने की जरूरत है। क्या छोटा, क्या बडा, सबके लिये समान व्यवहार होना चाहिए। तभी तो कोई आपकी...

  • अनमोल वचन

    परमात्मा की कृपा से अच्छी आयु पाओगे, आप दीर्घायु होंगे तो वृद्धावस्था भी निश्चित रूप से आयेगी। इस अवस्था में अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। इसके लिये स्वयं को एक्टिव रखें। वृद्धावस्था को अपने ऊपर हावी न होने दें। एक्टिव रहकर घर के कार्यों में पूर्ण सहयोग दें। कार्य करते रहने से हम स्वस्थ रहेंगे ...

  • अनमोल वचन

    कुछ अच्छी बातें हैं, जिन्हें हम बचपन से जानते हैं, पर क्या उन्हें व्यवहारिक जीवन में अपनाते भी हैं। उदाहरणार्थ कम खाना, कम बोलना, जितना जरूरी हो, उतना ही बोलना तथा अपने काम में लगे रहना, जैसी ये ज्ञानवद्र्धक बातें हमने बचपन में ही किताबों में पढ रखी थी, परन्तु आज हम उन पर अमल नहीं करते। बचपन में...

  • अनमोल वचन

    जिस राजनीति ने हमें स्वाधीनता दिलाई, उसके राजनेताओं के चरित्र, चिंतन, व्यवहार तथा व्यक्तित्व की पवित्रता को देखकर देशवासियों ने उन्हें महात्मा, महामना, लोकमान्य, नेताजी, गुरूदेव कहकर शिरोधार्य किया, यहां तक कि अंग्रेजों के देश से आये हुए भी हमारी सिस्टर, हमारे दीनबन्धु बन गये। बातचीत, जीवन शैली हमें ...

  • अनमोल वचन

    आजकल होली में तो एक-दूसरे पर कीचड फेंका ही जाता है, आफिसों के कमरे हों या घर के कमरे हों, यहां पर भी कीचड का खेल भरपूर है। बडे अधिकारी और छोटे कर्मचारी इस मामले में दोनों में भरपूर भाईचारा है। काम छोटा ही सही, परन्तु उसकी कीमत बडी होती है। इस मामले में जो भुक्तभोगी है, उनकी खबरें आये दिन सुर्खियों...

  • अनमोल वचन

    हम एक-दूसरे को नीचा दिखाने में बिल्कुल भी कंजूस नहीं हैं, दिल खोलकर कीचड उछाला जाता है। समाज का हर वर्ग इसके लपेटे में हैं। इसका दायरा राजनीति, धर्म, शिक्षा, न्याय के मंदिर, जांच आयोग, हमारे घर आंगन तक पसरा हुआ है। संवेदना का पर्याय माने जाने वाले धर्म कथा, प्रवचन करने वाले भी अब इस शोषण की पहचान...

  • अनमोल वचन

    चारों ओर इतनी कीचड क्यों है भाई। माना कि होली है, परन्तु इसमें तो हंसी-ठिठौली होनी चाहिए। गाली और गोली क्यों? टेसू के फूलों के रंग, इनकी सुगन्ध, अबीर गुलाल के संग यही तो होते हैं होली खेलने के ढंग, पर ऐसा तो कुछ दीखता नहीं, जिसे देखो वही हर तरफ कीचड उछाल रहा है। आज के रासायनिक रंग भी कीचड से कम...

  • अनमोल वचन

    हमारे अन्य पर्वों की भांति होली भी विज्ञान पर आश्रित पर्व है। इसकी सभी क्रियाएं रहस्यपूर्ण है और मानव स्वास्थ्य और शक्ति पर प्रभाव डालती है। देशभर में एक साथ होने वाला होलिका दहन जाडे और गर्मी की ऋतु संधि में फूट पडने वाले रोग जैसे मलेरिया, चेचक, खसरा तथा अन्य संक्रामक रोग कीटाणुओं के विरूद्ध एक...

  • अनमोल वचन

    जैसे कुम्भकार कच्ची गीली मिट्टी से अपने अनुसार बर्तन, दीपक या खिलौने बना देता है, उसी प्रकार माता-पिता भी बच्चे का निर्माण, सुसंस्कारित करके दे सकते हैं, क्योंकि बच्चे भी तो कच्ची मिट्टी के समान होते हैं। कच्चे लोहे को पिघलाकर इस्पात ढालने की अपनी विधा होती है। पैट्रोलियम से मोबिल ऑयल निकाला जाता...

  • अनमोल वचन

    सन्तान के प्रति गृहस्थी के अनिवार्य कर्तव्यों में अपनी सन्तान को सुसंस्कार देना है, अन्य कर्तव्य तो इसके आगे गौण हो जाते हैं। बचपन से ही उनमें परोपकार, शालीनता, प्रेम के संस्कार भरने होंगे। दादा-दादी, माता-पिता परिवार के ऐसे सदस्य होते हैं, जिनके सम्पर्क में बच्चा सबसे अधिक रहता है। बचपन से लेकर ठीक ...

Share it