Top

अनमोल वचन

अनमोल वचन

तीन सत्य जिन्हें सदैव याद रखना चाहिए। हम जो कर्म आत्मा के आदेश के विपरीत मनमर्जी से करते हैं, वें प्राणी कर्म, फल तथा आवागमन के दुखदायी चक्र से बांध देते हैं, यह दृश्यमान संसार के सभी पदार्थ, रिश्ते, इन्द्रियों के भोग, सांसारिक मान बडाई आदि सब नाश्वान हैं। इनमें से किसी को कभी सच्चा और पूर्ण सुख प्राप्त नहीं होता। जीवन क्षण भंगुर है और मृत्यु अटल है। जीवन का कोई भरोसा नहीं है, पता नहीं मौत किस समय और कहां आ जाये। इसलिए जीवन के मूल उद्देश्य की प्राप्ति में विलम्ब या प्रमाद नहीं करना चाहिए। हमें प्रभु की भक्ति द्वारा उसके सत्य को जानने का प्रयास करना चाहिए और बुरे कार्यों से स्वयं को दूर रखना चाहिए। न केवल यह जीवन अनिश्चित और क्षण भंगुर है, बल्कि पल-पल हमारी शक्ति भी कम होती जा रही है। बीमारी और बुढापे पर किसी का वश नहीं। बुढापे में पहुंचकर जब शरीर के सब अंग शिथिल पड जाते हैं, तब भक्ति मार्ग पर चलना कठिन हो जाता है। इसलिए आज और अभी से प्रभु भक्ति की ओर प्रवृत्त हो जाना चाहिए।

Share it
Top