Top

अनमोल वचन

  • अनमोल वचन

    एक विचारक ने कर्म का महिमामंडन करते हुए कहा 'मत भूलो कि जीवन आदान-प्रदान का दूसरा नाम है। आप जैसा करोगे-वैसा भरोगे, जैसा बोओगे-वैसा ही काटोगे, कर भला हो भला।' जब मानव विनम्र भाव से दूसरों को सम्मान देता है, जो उसके हृदय से अहम भाव नदारद रहता है। उसे सृष्टि में सौंदर्य ही सौंदर्य दिखाई पडता है। वह...

  • अनमोल वचन

    जीवन में तरक्की करने के लिए, आगे बढने के लिए परिश्रम से बडा कोई गुरू मंत्र नहीं। याद रखें कोई भी काम छोटा या बडा नहीं होता। जीवन के हर क्षेत्र में हमें अपना काम अच्छी भावना के साथ पूरा करना है। अच्छे काम का परिणाम बुरा हो ही नहीं सकता। प्रशंसा के लिए बेशक अच्छे काम न करो, परन्तु यह बात गांठ बांध लो...

  • अनमोल वचन

    समय अनमोल है, इसे व्यर्थ के कार्यों में गंवाओगे तो सही और आवश्यक कार्यों के लिए पर्याप्त समय बचेगा ही नहीं, जिसमें जरूरी काम पूरे नहीं हो पायेंगे, जो समय का सदुपयोग कर लेंगे वे दूसरों से आगे निकल जायेंगे। अपने जीवन को बेहतर बनाने के लिए कोई भी मार्ग चुनने का विकल्प है। बस यह रास्ता सही होना चाहिए।...

  • अनमोल वचन

    समाज में बुजुर्गों का अपमान करने वाले चावल की प्लेट में मिले कंकड के समान है। जिस दिन इन कंकडों को निकाल बाहर फेंक दिया जायेगा, उस दिन एक बेहतर समाज का निर्माण होगा, जो संस्कार और सभ्यता हमें संयुक्त परिवारों में सीखने को मिलती है वह एकल परिवार में सम्भव नहीं, परन्तु आज बुजुर्गों को अलग होने को...

  • अनमोल वचन

    रिश्ते और शीशे बडे नाजुक होते हैं। जैसे शीशे छोटी सी गलती से टूट जाते हैं, वैसे ही रिश्ते भी छोटी सी गलतफहमी में टूट जाते हैं। प्रशंसा और सम्मान मांगे नहीं जाते, वे अच्छे कर्म करके कमाये जाते हैं। जिन मूर्तियों को हम अपने आप बनाकर बडे गर्व से उनकी पूजा करते हैं, परन्तु जिन्होंने हमें बनाया है उन...

Share it